धर्मस्थल पर अधर्म: पुजारी का बेटा प्रेमजाल में फंसाकर 6 साल तक मंदिर में करता रहा लड़की से रेप, 7 के खिलाफ मामला दर्ज

मंदिर में ही महापाप की एक घटना सामने आई है। हरियाणा मामला के पानीपत जिले का है। यहां के राधे-कृष्ण मंदिर के पुजारी के बेटे पर संगीन आरोप लगे हैं। आरोप यह है कि उसने अपनी नौकरानी को ही प्रेम जाल में फंसाकर 6 साल तक उसका यौन शोषण करता रहा। यहां तक की आरोपी ने पीड़िता के साथ बिना फेरों के ही मंदिर में शादी भी रचाई और अब उस पर तलाक का दबाव बना रहा है, जिसकी शिकायत लेकर पीड़ित महिला सीडब्ल्यूसी पहुंची और सारी आपबीती सुनाई। सीडब्ल्यूसी के आदेश पर पुलिस ने 7 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है।

वहीं पीड़िता ने जानकारी देते हुए बताया कि वो आरोपी के घर काम करने जाती थी और कुछ ही महीनों बाद पुजारी का बेटा उसका यौन शोषण करने लगा। लगभग 6 साल तक पुजारी का बेटा उसके साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम देता रहा। बाद में साल 2019 में दोनों ने बिना फेरों के ही शादी कर ली और शादी के बाद 6 महीने तक उसे एक किराए के मकान में रखा और फिर उसके बाद बार-बार उसके माता-पिता से दहेज के नाम से पैसों की मांगता रहा। जब उनके पास पैसे खत्म हो गए तो उस पर तलाक का दबाव बनाया जाने लगा।

इसी के साथ सीडब्ल्यूसी की चेयरमैन पदमा रानी ने जानकारी देते हुए बताया कि 18 मार्च 2020 को पीड़िता ने हमारे कार्यालय में शिकायत दी कि वह राधा कृष्ण मंदिर में 2012 से किराए के मकान में रह रहे हैं। उसी मंदिर के ऊपरी हिस्से में सतीश शर्मा पंडित का परिवार भी रहता है‌। जब वह किराए पर रहती थी तो पीड़िता नाबालिग थी, तब आरोपी के परिवार वालों ने उसे घर पर काम करने के लिए 5 हजार रुपए में रखा था। वहीं जब 2 महीने काम करने के बाद भी आरोपी के परिवार वालों ने उसे पैसा नहीं दिया तो इस दौरान सतीश शर्मा के बेटा लड़की से प्रेम की बातें करने लगा। उसके बाद में उसके साथ उसका यौनशोषण भी किया।

पदमा रानी ने जानकारी देते हुए यह भी बताया कि आरोपियों ने उस लड़की के साथ मजदूरों जैसा काम करवाया और उसकी पढ़ाई भी छुड़वा दी। जब भी समय लगता उसका पुत्र भावुक लड़की के साथ रेप करता रहता रहता था। पीड़िता के परिवार वालों को पता चलने पर शिकायत देने की बात कही तो परिवार वालों ने लड़की से शादी करने की बात कही। 2019 में बिना फेरों के ही शादी भी कर ली। उसके बाद आरोपी युवक लड़की के साथ किराए के मकान में रहने लगा।

उन्होंने यह भी कहा कि लड़की के साथ कोई शादी नहीं हुई कोई फेरे नहीं हुए और ना ही कोई मंत्र उच्चारण हुआ। इसके बाद उसके साथ मारपीट करते और दहेज के नाम से लाखों रुपए मांगते थे। पीड़िता के पिता ने लगभग डेढ़ लाख रुपया लड़के को दिया। पदमा रानी ने जानकारी देते हुए बताया कि जब इसके साथ यौन शोषण हुआ, तब यह नाबालिग थी, लेकिन अब वह बालिग है तो सीडब्ल्यूसी ने आदेश पारित करते हुए किला थाने को आरोपियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करने के आदेश दिए है। पुलिस ने 7 लोगों के खिलाफ दहेज का मामला भी दर्ज कर लिया।