भीषण सड़क हादसा: सवारियों से भरी बस ने डस्टर कार को मारी जोरदार टक्कर, BSF के डिप्टी कमाडेंट समेत कार चालक की हुई मौत, 8 घायल

एक भीषण सड़क हादसा बिहार के मुजफ्फरपुर में हुआ है। इस हादसे में कार में सवार बीएसएफ के डिप्टी कमांडेंट मारुती शरण और उनके कार चालक की भी मौत हो गई है। डिप्टी कमांडेंट की कार को एक ट्रक ने धक्का मार दिया था और जिसके बाद उनकी कार एक बस से जा टकराई। कार और बस के बीच टक्कर इतनी भीषण थी कि डिप्टी कमांडेंट की डस्टर कार के परखच्चे उड़ गए। यह घटना अहियापुर थाना क्षेत्र के गरहा में NH 57 पर हुई है। इस घटना के बाद मौके पर ग्रामीणों की भारी भीड़ जुट गई जिसे हटाने के लिए अहियापुर थाना पुलिस वहां पहुंची।

इस घटना में बस में सवार 8 लोग मामूली रूप से चोटिल हुए हैं। वहीं अब पुलिस ने बस को जप्त कर लिया है जबकि ट्रक मौके से फरार हो गया है। इस बस में सवार यात्रियों को दूसरी गाड़ियों से उनके घर भेजा जा रहा है। थानाध्यक्ष सुनील कुमार रजक ने जानकारी देते हुए बताया कि डिप्टी कमांडेंट अपनी डस्टर कार में सवार होकर मुजफ्फरपुर के रास्ते किशनगंज के लिए जा रहे थे। वो किशनगंज में ही पोस्टेड थे। पहले उनकी कार को एक ट्रक ने धक्का मार दिया। ट्रक का धक्का लगने के कारण यह कार असंतुलित हो गई और दूसरे लेन में चल रही एक बस के आगे आ गई उसके बाद बस ने भी कार में पीछे से जोरदार टक्कर मारी, जिससे कार के परखच्चे उड़ गए।

वहीं यह बताया जा रहा है कि यह बस सुपौल से दिल्ली के लिए जा रही थी जिसे पुलिस ने जब्त कर लिया है जबकि ट्रक मौके से फरार हो गया है‌। अहियापुर थानाध्यक्ष सुनील कुमार रजक ने जानकारी देते हुए बताया कि कार के चालक दिलीप कुमार की मौके पर ही मौत हो गई थी जबकि घटना के वक्त डिप्टी कमांडेंट पांडे घायल थे। आनन-फानन में उन्हें शहर के एसकेएमसीएच अस्पताल में भेजा गया। लेकिन वहां पर डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। इस घटना के बाद सड़क पर काफी भीड़ जमा हो गई। बस जब्त करके पुलिस दूसरी गाड़ियों से सभी यात्रियों को उनके घर भेज रही है।

इसी के साथ बस में सवार सुपौल निवासी एक महिला यात्री ज्योति ने जानकारी देते हुए बताया कि इस घटना में बस चालक की कोई गलती नहीं है। कार दूसरी लेन में जा रही थी और अचानक से वह बस के सामने आ गई। ड्राइवर ने इसे बचाने की बहुत कोशिश की लेकिन फिर भी कार और बस में टक्कर हो गई। ज्योति ने यह भी बताया कि बस में ओवरलोडिंग करके पैसेंजरों को बैठाया गया था।