कंगना रनौत ने फिर दिया विवादित बयान, बोली- देश को असली आजादी 2014 में मिली, 1947 में तो भीख मिली थी, हिमाचल में मामला दर्ज

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत के देश की आजादी को लेकर एक विवादित बयान दिया है। इस विवादित बयान पर अब चारो तरफ घमासान मचा हुआ है। शुक्रवार को ऊना जिले के गगरेट क्षेत्र के दियोली ग्राम पंचायत से बीडीसी सदस्य एवं कांग्रेस नेता अनिल डढवाल ने कंगना रनौत के खिलाफ एसपी ऊना को शिकायत पत्र सौंपा है और उसके खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज करने की मांग उठाई है। वही पुलिस ने फिलहाल के लिए शिकायत दर्ज कर ली है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, एसपी ऊना अर्जित सेन ठाकुर को भेजी गई शिकायत में अनिल डढवाल ने जानकारी देते हुआ बताया कि सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुई है, जिसमें हाल ही में पद्म पुरस्कार से सम्मानित अभिनेत्री कंगना रणौत भारत को 1947 में मिली आज़ादी पर बोलती हुई साफ सुनाई दे रही हैं कि “1947 में मिली आज़ादी भीख में मिली थी।” अनिल डढवाल ने अब यह कहा है कि अभिनेत्री कंगना रनौत का बयान सुनकर मेरी राष्ट्र प्रेम की भावनाएं बेहद आहत हुई हैं। उन्होंने यह भी कहा कि सैनानियों के तप और उनके बलिदानों, शहीदों की शहादतों के साथ साथ देश की संसद, देश के संविधान का जानबूझकर किसी मंशा के तहत अपमान किया गया है।

वही अब उन्होंने पुलिस से कहा है कि अभिनेत्री कंगना रनौत निवासी भांबला जिला मंडी हिमाचल प्रदेश के विरुद्ध देशद्रोह की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया जाए। एसपी ऊना अर्जित सिंह ठाकुर ने जानकारी देते हुए बताया कि यह शिकायत पुलिस को वाट्सअप के माध्यम से मिली है, जिसे गगरेट पुलिस थाना में जांच के लिए भेज दिया गया है।

इसीके साथ हिमाचल कांग्रेस के अध्यक्ष कुलदीप राठौर ने शिमला में हुई प्रैस कॉन्फ्रेंस में कहा कि कंगना द्वारा दिया गया बयान राष्ट्र के खिलाफ है और यह स्वतंत्रता सेनानियों का अपमान है। राठौर ने इस मामले में कहा कि शायद ये बयान देने के लिए ही कंगना को पद्मश्री दिया गया है। उन्होंने कंगना के बयान पर सीएम से स्पष्टीकरण मांगा और साथ ही भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष से भी इस मसले पर जबाव मांगा है।