ड्यूटी पर तैनात सीआरपीएफ जवान ने साथी को मारी गोली, फिर खुद को भी गोली मारकर उड़ाया, दोनों की हुई मौत

ड्यूटी पर तैनात एक सीआरपीएफ के जवान ने अपने साथी जवान को ही गोली मारकर उसकी हत्या कर दी। वहीं इसके बाद जवान ने ख़ुद को भी गोली मार ली जिससे उसकी भी मौत हो गई है। यह पूरा मामला झारखंड के चतरा का है। यहां के सिमरिया में आईटीआई कॉलेज में संचालित सीआरपीएफ-190 बटालियन के कोविड-19 आइसोलेशन सेंटर में यह घटना पेश आई है। इस घटना के बाद दोनों जवानों की मौके पर ही मौत हो गई है। वहीं इस घटना में मृतक जवानों की पहचान सिपाही कालूराम गुर्जर और रसोईया रविंद्र कुमार के रूप में हुई है। आपको बता दें कि इस घटना का कारण जवान का पारिवारिक और मानसिक तनाव बताया जा रहा है। हालांकि पुलिस अभी इस मामले के प्रत्येक पहलू पर गहनता से जांच कर रही है। मृतक जवानों में से एक जवान हरियाणा और दूसरा राजस्थान का रहने वाला है। वहीं इस मामले में पूछताछ पर पता चला है कि ड्यूटी पर तैनात इन दोनों जवानों के बीच किसी बात को लेकर तू-तू मैं-मैं हो गई थी। जिसके बाद देखते ही देखते यह मामला इतना बढ़ गया कि पहले से ही मानसिक तनाव झेल रहे एक जवान ने अपनी सरकारी राइफल से दूसरे जवान को गोली मार दी। इतना ही नहीं दूसरे जवान को गोली मारने के बाद आरोपी जवान ने खुद को भी शूट कर लिया। जिससे इन दोनों की मौके पर ही मौत हो गई।

वहीं इस घटना की सूचना मिलते ही एसपी ऋषव झा, सीआरपीएफ 190 बटालियन के कमांडेंट पवन कुमार बासन और सिमरिया एसडीपीओ अशोक प्रियदर्शी टीम के साथ घटनास्थल पहुंचे और मामले की जांच शुरू कर दी है।

इसी के साथ एसपी ने जानकारी देते हुए बताया कि प्रथम दृष्टया यह घटना पारिवारिक तनाव के कारण बताया जा रहा है। उन्होंने यह भी बताया कि यह आरोपी जवान पहले से ही मानसिक तनाव में रह रहा था। इसे लेकर सीआरपीएफ के आलाअधिकारी लगातार उसकी परेशानियों को दूर करने का प्रयास भी कर रहे थे। जिसके लिए उसे स्पेशल ट्रीटमेंट भी दिया जा रहा था। इसके बावजूद अचानक घटी इस घटना से अब पूरा सीआरपीएफ महकमा सकते में आ गया है।

वहीं एसपी ने जानकारी देते हुए बताया कि तत्काल प्रभाव में दोनों मृतक जवानों के शवों को पोस्टमार्टम कराने के लिए भेजा गया है। वहीं इन मृत जवानों के परिजनों को भी घटना की सूचना दे दी गई है।