हिमाचल: आत्महत्या करने के लिए चलती HRTC बस के आगे कूदा 33 वर्षीय युवक, चालक की मुस्तैदी से बड़ा हादसा होने से टला, 3 महिलाएं घायल

हिमाचल प्रदेश में कांगड़ा जिले के पालमपुर में गुरुवार के दिन एक बड़ा हादसा होने से टल गया। यहां हाईवे पर एक युवक ने एचआरटीसी की बस के आगे कूदकर आत्महत्या करने की कोशिश की। लेकिन बस चालक ने मुस्तैदी दिखाते हुए उसकी जान बचा ली। लेकिन व्यक्ति को बचाते हुए इस दौरान बस ऑफ रोड होकर नाली में फंस गई। इस हादसे में तीन महिला यात्री घायल हो गई है। गनीमत यह रही कि बस पलटने से बच गई।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, कांगड़ा जिले के पालमपुर में पठानकोट-मंडी हाईवे नं.-154 पर भट्टू गांव के पास यह हादसा हुआ है। एचआरटीसी पालमपुर की एक बस सुबह पालमपुर-जम्मू रूट पर जा रही थी। इस दौरान भट्टू में अचानक एक 33 वर्षीय युवक ने बस के आगे छलांग लगा दी।

बस के चालक रमेश चंद ने बस को सड़क से बाहर करते हुए ब्रेक लगा दी और इस हादसे में युवक कुचलने से बच गया। बताया जा रहा है कि यह युवक 2016 से मानसिक तौर से विक्षिप्त है। इस हादसे के समय इस बस में कुल 19 सवारियां मौजूद थीं। प्रत्यक्षदर्शियों द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, युवक आत्महत्या करने की बात कह रहा था। वही आपको बता दे कि बस की गति धीमी होने से चालक ने इसे नियंत्रित कर लिया, अन्यथा बस पलट भी सकती थी, और एक बडा़ हादसा हो सकता था। वही लोगों ने चालक रमेश कुमार की मुस्तैदी की काफी तारीफ की है। वही बाद में दूसरी बस में सवारियों बैठाकर जम्मू के लिए रवाना कर दिया।

वही डीएसपी गुरबचन सिंह ने इस हादसे की पुष्टि करते हुए कहा कि युवक से पूछताछ की गई है। प्राथमिक स्तर पर यह युवक मानसिक रोगी लग रहा है। अब युवक की घरेलू जांच पड़ताल के बाद ही आगे की कार्रवाई होगी। इस हादसे में घायल हुए यात्रियों का पठानकोट और दूसरे इलाकों में इलाज चल रहा है। आपको बता दे कि एक महिला के दांत में भी चोट लगी है।