हिमाचल प्रदेश

हिमाचल: घर में लगी भीषण आग, दम घुटने से हुई पिता और तीन मासूम बच्चों की मौत, मृतक के माता-पिता ने लगाया अपनी बहू पर हत्या का आरोप

हिमाचल प्रदेश के चंबा जिले के चुराह विधानसभा क्षेत्र के करातोट गांव में सोमवार की देर रात करीब ढाई बजे एक घर में आग लग गई। जिसमें धुएं के कारण दम घुटने से एक व्यक्ति और उसके तीन बच्चों की मौत हो गई है। वहीं पुलिस द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार इस घटना के समय घर के एक कमरे में पांच लोग सोए हुए थे। इसके बाद सांस लेने में तकलीफ होने के कारण महिला कमरे से बाहर निकल आई, जिससे उसकी जान तो बच गई। लेकिन बाकी चार लोगों की मौत हो गई है, जिसमें तीन बच्चे भी शामिल हैं। इसी के साथ एसपी चंबा अरुल कुमार जानकारी देते हुए ने बताया कि इस घटनाक्रम की सूचना मिलते ही पुलिस की एक टीम मौके पर पहुंची और सभी शवों को अपने कब्जे में ले कर पोस्टमार्टम के लिए चंबा मेडिकल कॉलेज पहुंचाया गया। वहीं दूसरी ओर फोरेंसिक जांच के लिए धर्मशाला से एक टीम पहुंची है। वहीं, अब मृतक व्यक्ति के माता-पिता ने अपनी बहू पर हत्या की आशंका जताई है।

वहीं अब इस मामले में धारा 174 के अंतर्गत केस दर्ज कर लिया गया है और आगामी जांच शुरू कर दी है। वहीं आपको बता दें कि पुलिस ने प्रारंभिक जांच में कमरे से एक पेट्रोल की कैनी भी बरामद की है। इसी के साथ यह भी बताया जा रहा है कि यह मृतक व्यक्ति धूम्रपान करता था। एसपी ने जानकारी देते हुए बताया कि मृतक मुहम्मद रफी की पत्नी थुना ने पुलिस को दिए अपने बयान में कहा है कि वे पांचों सोमवार की रात को मकान के एक ही कमरे में सोए हुए थे। देर रात को करीब ढाई बजे उसे सांस लेने में तकलीफ हुई तो उसकी आंख खुल गई। और उसने देखा कि पूरे कमरे में धुआं था। किसी तरह वह कमरे से बाहर निकली।

इस बीच उसका पति मुहम्मद रफी, उसकी 6 वर्षीय बेटी जैतून, 2 वर्षीय बेटी जुलेखा और 4 वर्षीय बेटा समीर कमरे में ही सोए हुए थे। जब कमरे का दरवाजा खोला तो देखा कि पूरे घर में आग लगी हुई है। उसने भीतर जाकर पति और बच्चों को जगाने की कोशिश की, लेकिन वे नहीं उठे। इसके बाद महिला ने अपनी बहन को फोन कर इस घटना की जानकारी दी। जिसके बाद महिला की बहन मौके पर पहुंची और चिल्लाना शुरू कर दिया। महिला की चीख पुकार सुनकर ग्रामीण मौके पर पहुंचे।

वहीं एक ग्रामीण युवक ने खिड़की तोड़कर कमरे में अंदर प्रवेश किया। इसके साथ ही पानी से भरी हुई बाल्टी से घर में लगी हुई आग को बुझाने की कोशिश भी की‌। इसके बाद ग्रामीण भी आग बुझाने में जुट गए। वहीं सभी ग्रामीणों ने मिलकर कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया, लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी, मुहम्मद रफी और उसके तीनों बच्चों की मौत हो चुकी थी। वहीं बाद में इस घटनाक्रम की सूचना पुलिस को दी गई। पुलिस की एक टीम मौके पर पहुंची। इसके बाद मंगलवार को पुलिस अधीक्षक अरुल कुमार और एडीसी भी घटनास्थल पर पहुंचे। वहीं अब मृतक के परिजनों और माता-पिता ने मुहम्मद रफी की हत्या की आशंका जाहिर करते हुए इसका आरोप मृतक की पत्नी पर लगाया है। इसी के साथ इस मामले की निष्पक्षता से जांच करने की भी मांग की गई है।

Share
Published by
Sagar

Recent Posts

हिमाचल: कलबोग में सड़क से उतरकर पलट गई एक निजी बस, सड़क किनारे लटकी, 2 सवार हुए घायल

हिमाचल प्रदेश के शिमला जिले में बुधवार की सुबह एक सड़क हादसा हो गया। यहां… Read More

1 day ago

हिमाचल: बंजार से चेत्थर की ओर जा रही पिकअप सड़क से 100 मीटर नीचे जा गिरी, 27 वर्षीय युवक की हुई मौत , एक अन्य घायल

हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले के बंजार उपमंडल के चेत्थर में मंगलवार की रात को… Read More

1 day ago