हिमाचल: नहीं मिला ऑक्सीजन युक्त वेंटिलेटर, तो कोरोना संक्रमित भाजपा नेता राकेश शर्मा की हुई मौत

कोविड केयर अस्पताल हमीरपुर में ऑक्सीजन युक्त वेंटिलेटर न मिलने से कोरोना संक्रमित भाजपा नेता राकेश शर्मा की मौत हो गई है। वह वर्तमान में प्रदेश भाजपा व्यापार कल्याण बोर्ड के सदस्य और मक्कड़ पंचायत के प्रधान भी थे। वहीं मेडिकल कॉलेज हमीरपुर में कोरोना काल में ऐसी अव्यवस्था सामने आई कि यहां वेंटिलेटर तो हैं, लेकिन अस्पताल का अपना ऑक्सीजन प्लांट अब तक शुरू नहीं हो पाया है, जिससे मरीजों की जान जा रही है।

करीब पांच दिन पहले कोरोना संक्रमित होने पर राकेश ने खुद को होम आइसोलेट कर लिया था, लेकिन शनिवार की दोपहर तबीयत बिगडने पर परिजनों ने उन्हें कोविड केयर सेंटर हमीरपुर में भर्ती कराया था। यहां उन्हें ऑक्सीजन पर रखा, लेकिन शाम तक उनकी तबीयत ज्यादा खराब हो गई और उन्हें वेंटिलेटर की जरूरत पड़ी। वहीं चिकित्सकों ने जानकारी देते हुए बताया कि हमीरपुर में 15 से अधिक वेंटिलेटर हैं, लेकिन अपना ऑक्सीजन प्लांट न होने के चलते यह काम नहीं करते हैं।

इसके बाद उन्हें वहां से ले जाने के लिए चंडीगढ़ के तमाम निजी अस्पतालों से संपर्क भी किया, लेकिन कहीं भी बेड खाली नहीं मिले। आखिर में फिरोजपुर में एक अस्पताल से संपर्क कर एंबुलेंस और डॉक्टर बुलाए गए, जोकि ऊना के आसपास ही पहुंच थे। मरीज को अभी शिफ्ट करने की तैयारियां चल ही रही थीं कि शनिवार की रात करीब दस बजे उन्होंने दम तोड़ दिया।

डॉ. रमेश चौहान, चिकित्सा अधीक्षक, मेडिकल कॉलेज, हमीरपुर का कहना है कि राकेश शर्मा को जब अस्पताल लाया गया तो उनकी तबीयत ज्यादा खराब थी। उन्हें ऑक्सीजन भी दी गई। वेंटिलेटर के लिए ऑक्सीजन का फ्लो तेज चाहिए होता है, जो कि ऑक्सीजन प्लांट से सीधा पाइपलाइन से जुड़ता है। वहीं उन्होंने यह भी बताया कि हमीरपुर में ऑक्सीजन प्लांट अभी तक चालू नहीं हो पाया है।