हिमाचल पंचायत चुनाव: 22 वर्षीय दिव्य ज्योति बनीं मलूंडा की प्रधान, अभी कर रही हैं MBA की पढ़ाई

हिमाचल प्रदेश के चुवाड़ी के भटियात ब्लॉक की ग्राम पंचायत मलूंडा की जनता ने 22 वर्षीय लड़की दिव्य ज्योति को अपना प्रधान चुन लिया है। दिव्य ज्योति अभी एमबीए की पढ़ाई कर रही हैं, जिन्हें गांव की मिनी संसद को संभालने का गौरव प्राप्त हुआ है। उसकी इस उपलब्धि से सिर्फ माता-पिता ही नहीं, बल्कि पूरा गांव खुश है।

दिव्य ज्योति का जन्म जिला चंबा के चुवाड़ी की मलूंडा पंचायत में 1 जनवरी 1999 को हुआ था। 22 साल की उम्र में प्रधान पद का चुनाव जीतकर अपने पिता सरदार सिंह और मां आशा देवी का नाम रोशन करने वाली दिव्य ज्योति ने अपनी शुरुआती पढ़ाई गांव के ही स्कूल से की। वहीं चुवाड़ी के विद्यालय से सेंकेंडरी एजुकेशन और दुनेरा के कालेज से बीबीए करने के बाद वह अभी एमबीए की पढ़ाई कर रही है। चुनाव जीतने के बाद दिव्य ज्योति ने कहा कि वह पंचायत को नई बुलंदियों तक पहुंचाने और उसे एक रोल मॉडल बनाने के लिए ज़मीनी स्तर पर लोगों के साथ मिलकर कार्य करेंगी।

वहीं आपको बता दें कि हिमाचल प्रदेश में इस बार पंचायत चुनाव में युवाओं पर जनता ने खासा भरोसा जताया है। रोहडू से 22 साल की अवंतिका सरपंच बनी हैं‌। वहीं, बिलासपुर में 22 साल की जागृति, मंडी में खीरामणी और रोहडू में ही सोनिका लता 22 साल की उम्र में प्रधान चुनी गई हैं।