हिमाचल: पंचायत में कोई भी व्यक्ति मिला नशे में धुत, तो कटेगा बीपीएल सूची से नाम

हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले की भांबला पंचायत में नशे में धुत होकर सड़कों पर घूमने या कहीं भी पड़े मिलने पर उस व्यक्ति का नाम बीपीएल सूची से हटा दिया जाएगा। यह निर्णय सरकाघाट की भांबला पंचायत की प्रधान सुनीता शर्मा ने लिया है। वहीं प्रधान के इस निर्णय पर अन्य पंचायत प्रतिनिधियों ने भी सहमति जताई है। पंचायत प्रतिनिधियों ने यह निर्णय ऐसे लोगों को सबक सिखाने के लिया है, जो वैसे तो बीपीएल में शामिल होने के लिए गरीब बने रहते हैं, लेकिन रोजाना शराब का सेवन करते हैं। और नशे में धुत होकर सड़कों तथा गलियों में इधर-उधर पड़े रहते हैं।

वहीं पंचायत ने चेतावनी दी है कि खुद को जानबूझकर गरीब दर्शाकर सरकार की योजनाओं का लाभ लेने वाले लोगों को भी अब सूची से बाहर किया जाएगा। वहीं आपको बता दें कि सरकाघाट क्षेत्र में इस बार चुनी गईं पंचायतें जन सुधार एवं भ्रष्टाचार को खत्म करने के लिए नए-नए फरमान जारी कर रही हैं। भांबला पंचायत प्रधान सुनीता शर्मा ने जानकारी देते हुए कहा कि वैसे तो सभी स्थानों पर ऐसा देखा जाता है, लेकिन वह अपनी पंचायत में ऐसा नहीं होने देंगी। जो भी व्यक्ति नशे में धुत पाया जाता है तो उसे बीपीएल सूची से बाहर कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि वह व्यक्ति कहां का गरीब है, जो रोजाना 300 रुपये की शराब की बोतल खरीदता है। उन्होंने यह भी कहा कि उनकी पंचायत ने इस फरमान को पूरी तरह से लागू करने का निर्णय लिया है।