हिमाचल: पाकिस्तान ने दी शिमला के रिज मैदान को बम से उड़ाने की धमकी, मची अफरातफरी, पुलिस ने खाली कराया माल रोड और रिज मैदान

हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में नए साल को लेकर चल रहे जश्न में उस वक्त खलल पड़ गया, जब पुलिस ने कोरोना वायरस के नये वेरिएंट ओमिक्रॉन का बहाना करके रिज मैदान को तुरंत ही खाली करा लिया। लेकिन यह मामला वास्तव में कोरोना से कही ज्यादा बड़ा था, क्योंकि पडोसी देश पाकिस्तान से एक आतंकी धमकी मिली थी कि शिमला के रिज मैदान को नए साल के जश्न के दौरान बम से उड़ा दिया जाएगा। इसीके साथ जिस शख्स को बम प्लांट करने की जिम्मेदारी सौंपी गई थी, वह कश्मीरी मूल का बताया जा रहा है। इसके बाद पुलिस ने आनन-फानन में रिज मैदान को खाली कराया। इसीके के साथ अब इस धमकी के बाद पूरे प्रदेश में अलर्ट जारी कर दिया गया है।

वही इस धमकी के बाद शिमला पुलिस ने हजारों सैलानियों से अपने-अपने ठिकानों और होटलों में लौट जाने को कहा है। शिमला IG हिमांशु मिश्रा, DC और SP मोनिका के साथ ही भारी पुलिसबल भी रिज मैदान और शिमला के मॉल रोड पर तैनात किया गया है।

आपको बता दें की नए साल का जश्न मनाने के लिए हजारों की संख्या में पर्यटक शिमला के रिज मैदान और मॉल रोड पर पहुंचे हैं। वही हिमाचल सरकार ने अब तक प्रदेश में नाइट कर्फ्यू भी नहीं लगाया था, जिससे शिमला के साथ ही साथ मनाली में भी हजारों की संख्या में पर्यटक नए साल का स्वागत करने पहुंचे थे, जिसके चलते शिमला के होटल 100 फीसदी तक पैक हो गए थे। और यहां पर कोरोना गाइडलाइन की जमकर धज्जियां भी उड़ाई जा रही थीं। इसीके साथ ही इलाके में पुलिस लोगों को मास्क लगाने और दूरी बनाने के साथ साथ कोरोना गाइडलाइन्स को फॉलो करने की बात कर रही थी।

शाम के समय जब हजारों सैलानी रिज मैदान और मॉल रोड पर पहुंचे तो पुलिस ने अचानक ही उन्हें वहाँ से हटाना शुरू कर दिया। पुलिस ने लोगों को इसकी वजह कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन को बताया है, लेकिन पुलिस ने मौके पर बम निरोधक दस्ते को भी बुलाया है, दोनों स्थानों के चप्पे-चप्पे पर चेकिंग की गई है, और जांच अब भी जारी है। खोजी कुत्तों की मदद भी ली गई है।

वही आपको बता दे कि अब रिज मैदान और मॉल रोड में सन्नाटा पसरा हुआ है। वहां पर सिर्फ पुलिस का दस्ता दिखाई दे रहा है। पुलिस ने मैदान और मॉल रोड पर लगी हुई डस्ट बिन को भी एकत्र कर लिया हैं, जिनकी अब जांच की जा रही है। हालांकि पुलिस ने अभी तक बम होने या किसी गंभीर घटना के बारे में खुलकर नहीं बताया है।

इसीके साथ पर्यटकों को कोई परेशानी न झेलनी पडे, इसके लिए जिला प्रशासन ने पूरे शहर को 6 सेक्टरों में बांट रखा था। यहाँ हर सेक्टर में एक प्रशासनिक अधिकारी की ड्यूटी लगाई गई थी जो कि पूरी कानून व्यवस्था के साथ साथ यातायात और पार्किंग की व्यवस्थाओं को भी देख रहे थे। पर्यटकों को कोरोना के नियमों के प्रति जागरूक करने के लिए पूरे शहर में 450 से ज्यादा पुलिस कर्मचारी उन्हें मास्क पहन कर घूमने और शारीरिक दूरी के नियम का पालन करने की हिदायत देने के लिए तैनात किए गए थे। शहर में ट्रैफिक जाम न हो, इसलिए सभी फील्ड सड़कों को भी पार्किंग के लिए खोल दिया था।