हिमाचल बजट 2021: मुख्यमंत्री जयराम आज पेश करेंगे अपने कार्यकाल का चौथा बजट, स्वास्थ्य और शिक्षा के लिए हो सकते हैं बड़े ऐलान

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर शनिवार की सुबह 11 बजे अपने कार्यकाल का चौथा बजट पेश करेंगे। वहीं कोरोना काल में सीएम के लिए इस बार का बजट चुनौतीपूर्ण होगा। इसी के साथ सरकार द्वारा घाटा कम करना चुनौतीपूर्ण होगा। वित्तीय वर्ष 2021-22 के यह बजट अनुमान 52 हजार करोड़ रुपये के आसपास रहने के आसार हैं। उधर, विधानसभा के बजट सत्र के पहले दिन राज्यपाल का रास्ता रोकने पर निलंबित नेता प्रतिपक्ष समेत कांग्रेस के पांचों विधायकों की शुक्रवार को नाटकीय घटनाक्रम के बीच निलंबन रद्द होने के साथ सदन में भी वापसी हो गई।

वहीं आपको बता दें कि कोरोना महामारी के असर के चलते इस बार बजट में नई योजनाओं में कटौती होगी। प्रदेश में होने वाले विकास पर व्यय की प्रतिशतता भी घट सकती है। स्वास्थ्य, शिक्षा, लोक निर्माण, कृषि, कर्मचारियों, पेंशनरों के वेतन-भत्तों पर बजट केंद्रित होने का अनुमान है। इस बार लोक निर्माण विभाग के लिए भी बजट में प्रावधान होगा। पहली बार प्लान और नॉन प्लान की मदें खत्म होंगी। उधर, सदन से निलंबित कांग्रेस विधायकों के मामले में राज्यपाल से विपक्ष के माफी मांगने की शर्त पर अड़ा रहा सत्तारूढ़ दल बजट पेश करते वक्त विपक्ष के सदन से बाहर रहने से आशंकित होकर अपनी चाल बदलते हुए शुक्रवार को नरमी दिखाई है।

वहीं संसदीय कार्य मंत्री सुरेश भारद्वाज ने सदन में प्रस्ताव रखा कि मुकेश अग्निहोत्री, हर्षवर्द्धन चौहान, विनय कुमार, सतपाल रायजादा और सुंदर ठाकुर का निलंबन निरस्त किया जाए। इससे पहले कांग्रेस विधायकों ने हर दिन की तरह ही प्रदर्शन जारी रखा। भोजनावकाश से पहले सूचना आई कि विस अध्यक्ष के चैंबर में विपक्ष को बातचीत के लिए भी बुलाया गया है। बातचीत में विपक्ष से आशा कुमारी, सुखविंद्र सुक्खू, धनीराम शांडिल, जगत सिंह नेगी आदि मौजूद हुए। सत्ता पक्ष से सीएम जयराम ठाकुर, मंत्री महेंद्र सिंह और संसदीय कार्य मंत्री सुरेश भारद्वाज ने भी बातचीत की। आखिर में सहमति बनी और छह दिन बाद गतिरोध टूटा। भोजनावकाश के बाद नेता प्रतिपक्ष और अन्य निलंबित विधायक सदन पहुंचे।