हिमाचल: मंडी में पंचायत चुनाव से पहले हुआ प्रधान का निर्विरोध चुनाव, पत्नी बनी प्रधान तो पति उपप्रधान, सबने दी सहमति

हिमाचल प्रदेश में पंचायत चुनाव में कुछ रोचक समीकरण देखने को मिल रहे हैं। हालांकि, चुनाव के लिए 17, 19 और 21 जनवरी की तारीख तय की गई है। लेकिन उससे पहले ही प्रदेश में निर्विरोध चुनाव भी देखने को मिल रहे हैं। वहीं एक ताजा मामला मंडी जिले से है। यहां पर पति-पत्नी का सर्वसम्मति से प्रधान तथा उपप्रधान पद के लिए चयन हुआ है।

मंडी जिला के द्रंग उपमंडल के तहत नवगठित कचौटधार पंचायत में यह चुनाव हुआ है। इस पंचायत के लोगों ने एक ही परिवार को प्रधान और उपप्रधान की बागडोर सौंप दी है और वह भी बिना चुनाव करवाए।

वहीं पंचायत के लोगों ने आशा देवी को पंचायत की पहली प्रधान के रूप में चुनने के साथ ही उनके पति जय सिंह राणा को उपप्रधान चुन लिया गया है। हालांकि, इस संदर्भ में जानकारी स्पष्ट नहीं है लेकिन ऐसा भी माना जा रहा है कि प्रदेश में यह शायद अपनी तरह का पहला मामला सामने आया है। यही नहीं, पंचायत के लोगों ने अपनी पूरी पंचायत को सर्वसम्मति से चुना है, जिसमें घुमहारडा एक वार्ड से कला देवी, घुमहारडा दो से सपना देवी, सरी एक से ललिता देवी, सरी दो से ज्योति देवी और कचौटधार से मूल चन्द को वार्ड का पंच चुना गया।

इसी के साथ प्रधान आशा देवी और उनके उपप्रधान पति जय सिंह राणा ने इसके लिए पूरी पंचायत का आभार भी जताया है और पंचायत के लोगों को आश्वस्त भी किया है कि विकास कार्यों में कोई बाधा नहीं आने दी जाएगी।