हिमाचल: मंत्रियों को भेजी गई फर्जी चिट्ठी, मुख्यमंत्री बोले- फर्जी चिट्ठी लिखने वाले की तलाश की जा रही है, होगी सख्त कार्रवाई

हिमाचल प्रदेश के दो नेताओं के खिलाफ एक फर्जी चिट्ठी होने के बाद इस मामले में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने एक प्रेस वार्ता में कहा है कि उन्हें हर रोज ऐसे ही एक नहीं, बल्कि कई सारे फर्जी पत्र मिलते रहते हैं। वहीं उन्होंने यह भी कहा कि किसी की छवि को नुकसान पहुंचाने के लिए ऐसी कोशिशें की जाती रहती हैं। यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण मामला है। यदि किसी में हिम्मत है तो सामने आकर अपने नाम और पते के साथ पत्र लिखें। इस फर्जी पत्र की जांच करवाई जाएगी। 

वहीं सीएम जयराम ठाकुर ने गुरुवार को पत्रकारों से हुई एक अनौपचारिक बातचीत में कहा कि इस बात को सुनिश्चित किया जाएगा कि इसे लिखने वाला कौन है। और यदि वह पकड़ा गया तो उसके खिलाफ कानून के मुताबिक सख्त कार्रवाई भी की जाएगी। इसी के साथ मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि जितने भी ऐसे फर्जी पत्र आते हैं, यह एक विकृत मानसिकता के साथ लोगों का काम करने का तरीका है। इसका लक्ष्य केवल लोगों की छवि को नुकसान पहुंचाना है, जोकि काफी दुर्भाग्यपूर्ण है। पिछली बार कोविड के शुरू होने पर भी कई ऐसे ही पत्र लिखे गए। वहीं बाद में पंचकूला से इसे लिखने वाले को उठाकर लाया गया। उसके बाद उसने अपनी गलती मानकर माफी भी मांगी। ऐसे लोग जहां भी होंगे, उनकी तह तक जाने की कोशिश करेंगे और उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।