हिमाचल: लगातार आ रहे हैं सुसाइड के मामले, अब IGMC अस्पताल में एक महिला मरीज ने हाथ की नसें काटकर कर ली आत्महत्या, सुसाइड नोट भी छोड़ा

हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में लगातार आत्महत्या के मामले सामने आ रहे हैं। समरहिल में जिला परिषद सदस्य कविता कंटू की आत्महत्या के बाद अब प्रदेश के एकमात्र आईजीएमसी के कैंसर अस्पताल में एक महिला मरीज ने आत्महत्या कर ली है। इस महिला द्वारा आत्महत्या करने से अब आईजीएमसी में हड़कंप मच गया है। वही अब यह बताया जा रहा हैकि महिला ने मानसिक तनाव के चलते यह कदम उठाया है। पुलिस अब इस पूरे मामले की जांच में जुट गई है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, यह घटना गुरुवार शाम की बताई गई है। महिला मरीज ने अपने हाथ की नसें काटकर आत्महत्या कर ली है। महिला की पहचान 36 वर्षीय सुमित्रा देवी निवासी सुन्दर नगर जिला मंडी के रूप में हुई है। यह महिला इलाज के लिए आईजीएमसी शिमला आई थी और उसे लास्ट स्टेज का कैंसर था। वही अब पुलिस ने मृतका के शव को पोस्टमार्टम के उपरांत परिजनों को सौंप दिया है। सदर थाना पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।

इसीके साथ अब यह भी बताया जा रहा है कि कैंसर की बीमारी से महिला डिप्रेशन में थी और उसने अपने हाथ की नंसे काट ली। इस घटना के दौरान महिला का पति पास में ही सो रहा था, लेकिन महिला ने कैसे अपना हाथ काटा इस बारे में उसके पति को कोई भी जानकारी नहीं है। दिन में जब उसके पति ने देखा कि पत्नी का हाथ कटा हुआ है तो उसने वार्ड में सूचित किया। चिकित्सकों ने जांच के बाद महिला को मृत घोषित कर दिया। इसीके साथ महिला ने एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है, जिसमें लिखा है कि “मैं बीमारी से बड़ी परेशान थी और कैंसर की पीड़ा मुझसे सही नहीं जा रही थी।”

राजधानी शिमला में लगातार आत्महत्या के मामले सामने आ रहे हैं। खासकर, युवा वर्ग सुसाइड कर रहा है। हाल ही में 26 वर्षीय पीएचडी स्कॉलर और जिला परिषद की सदस्य कविता कांटू ने सुसाइड कर लिया था। उससे पहले, एक कॉलेज स्टूडेंट ने भी अपनी जान दी थी।