हिमाचल: सात दिनों तक जंगल में बेहोश अवस्था में पड़े रहे घायल हंसराज, बच गई जान, अस्पताल में भर्ती कराया, पढ़ें क्या है पूरा मामला

हिमाचल प्रदेश के चंबा जिले के जंगल में सात दिन घायल अवस्था में बेहोश पड़े रहने के बाद भी एक व्यक्ति जीवित बच गया है। वहीं अब घायल व्यक्ति को उपचार के लिए चंबा मेडिकल कॉलेज में भर्ती करवाया गया है। इसकी पहचान हंसराज निवासी गांव गुआड़ी, डाकघर तरेला के रूप में हुई है। इसी के साथ यह भी बताया जा रहा है कि बीते आठ जुलाई को हंसराज पांगी से तीसा की तरफ अपने घर आ रहे थे। इसके बाद रानीकोट में हंसराज जंगल की तरफ गए, जहां वे पांव फिसलने कारण गहरे नाले में गिर गए और बेहोश हो गए। वहीं जब हंसराज घर नहीं पहुंचे तो परिजनों ने उनकी तलाश शुरू कर दी। रिश्तेदारों के पास भी गए लेकिन कुछ पता नहीं चला।

इसके बाद थक-हारकर हंसराज के परिजनों ने 13 जुलाई को पुलिस के पास इसके लापता होने की शिकायत दर्ज करवाई। इसके बाद पुलिस ने भी हंसराज की तलाश शुरू कर दी। आखिरकार 15 जुलाई को जब हंसराज के परिजन तथा अन्य ग्रामीण तलाश करते हुए रानीकोट के जंगल पहुंचे तो वहां हंसराज घायल अवस्था में पडे मिले। उन्हें उपचार के लिए चंबा मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है। इनकी टांग में गंभीर चोट भी बताई गई है। वहीं डॉक्टरों ने उनकी टांग के ऑपरेशन की बात भी कही है। चिकित्सा अधीक्षक देवेंद्र ने जानकारी देते हुए बताया कि जंगल में घायल अवस्था में मिले व्यक्ति का उपचार मेडिकल कॉलेज में किया जा रहा है।

ये भी पढ़ें: