हिमाचल: सुनसान श्मशानघाट में शराब पीकर नाच-गाकर हुड़दंग मचा रहे थे 3 ‘भूतों’ का हुआ पर्दाफाश, 1 पकड़ा, दो फरार

हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले में चैलचौक-जंजैहली सड़क पर कोट गांव के साथ लगते एक सुनसान नाले में स्थित शमशानघाट के पास हड़कंप मच गया। बीती रात को यहां से गुजरने वाले लोगों के डर के मारे रौंगटे खड़े हो गए। आपको बता दें कि यहां लोगों ने तीन ‘भूतों’ को चीखते-चिल्लाते, नाचते और हुड़दंग मचाते हुए देखा था। यह सब घटना शमशानघाट के उस स्थान पर हो रही थी, जहां पर शव जलाए जाते हैं। यहां आसपास कोई भी घर नहीं है और शमशानघाट भी बिल्कुल सड़क के किनारे ही है। ऐसे में यहां से गाडि़यों में गुजर रहे अधिकतर लोग ब्रेक लगाने की बजाय गाड़ी को स्पीड देकर यहां से भाग खड़े हुए।

वहीं आपको बता दें कि नौण गांव की तरफ से गाड़ी में आ रहे कुछ युवकों ने अपनी गाड़ी रोकी और यहां की पूरी स्थिति को जानना चाहा। पहले तो इन युवाओं की हिम्मत नहीं हुई, लेकिन जैसे-तैसे वे साहस जुटाकर आगे बढ़े तो पाया कि तीन युवक शराब के नशे में धुत्त होकर यहां डांस पार्टी कर रहे थे और जोर-जोर से चीखें भी निकाल रहे थे। पांच युवकों को अपने पास आता देख भूत बनकर नाच रहे तीनों युवक वहां से भाग निकले। दो तो भागने में कामयाब हो गए लेकिन एक को इन युवकों ने पकड़ लिया‌। इसके बाद यहां अन्य वाहन वाले भी रुके और गोहर थाना पुलिस को इसकी मामले में सूचना दी गई।

वहीं सूचना मिलते ही पुलिस टीम तुरंत मौके पर पहुंची और यहां एक शराबी युवक को काबू में कर लिया और लिखित कार्रवाई को अम्ल में लाया। आपको बता दें कि यह पकड़ा गया युवक नाबालिग है और खुद को क्षेत्र के ही चलाहर गांव का रहने वाला बता रहा है। वहीं यह अभी तक अपने दो अन्य साथियों के बारे में सही से जानकारी नहीं दे पाया है और बताया कि उसके दो साथी देवीदढ़ के रहने वाले हैं। गोहर थाना प्रभारी सूरम सिंह ने इस मामले की पुष्टि की है और जानकारी देते हुए बताया कि मामले की जांच की जा रही है। स्थानीय निवासी इंद्र सिंह, दिनु पहाडि़या, महेंद्र कुमार, जितेन्द्र कुमार ने इस मामले में जानकारी देते हुए बताया कि ये तीनों युवक बीते एक सप्ताह से कोट गांव के आसपास घूमते पाए गए थे, जो कि पहले यहां कभी नहीं देखे गए। ग्रामीणों ने पुलिस विभाग से मांग कि है कि अन्य दोनों युवकों को भी जल्द पकड़ा जाए और उनके ऐसे अभद्र कृत्य पर उनको दंडित किया जाए।