हिमाचल: सोलन में बद्दी पुलिस ने कंपनी से जब्त किए गैर कानूनी तरीके से बेंचे गए 44 और ऑक्सीजन सिलिंडर

ऑक्सीजन बनाने वाली कंपनी में बद्दी पुलिस की कार्रवाई तीसरे दिन भी जारी रही। अन्य सरकारी विभागों को लेकर पुलिस कंपनी का एक-एक दस्तावेज खंगाल रही है। पुलिस ने इंडो गैस कंपनी से सोमवार को 44 और आक्सीजन गैस सिलिंडर जब्त कर उद्योग विभाग के अधिकारियों को सौंपे हैं। पुलिस ने दिल्ली समेत कई जगह दो दर्जन उपभोक्ताओं को नोटिस भी जारी किए हैं। उन्हें तुरंत सिलिंडर वापस करने को भी कहा गया है। वहीं आपको बता दें कि बीते रविवार को 153 सिलिंडर जब्त किए गए थे।

प्रदेश में कोरोना के बढ़ते प्रकोप के कारण केंद्र सरकार ने ऑक्सीजन सिलिंडर को आवश्यक वस्तु अधिनियम घोषित किया है। वहीं अब इसकी जमाखोरी नहीं की जा सकती। इसका सारा नियंत्रण अपरोक्ष रूप से सरकार ने अपने अधीन ले लिया था। हिमाचल की कंपनियों को साफ हिदायत भी थी कि कंपनी में बनने वाले हर सिलेंडर और खरीद-फरोख्त का ब्योरा रखा जाए। रोजाना सरकार को इसकी रिपोर्ट दी जाए।

वहीं इंडो गैस कंपनी ने लगभग 700 सिलिंडर मुनाफाखोरी के चक्कर में बाहरी राज्यों में बेच दिए। मामले की जांच के लिए डीसी सोलन ने कमेटी गठित कर जांच के आदेश दिए थे। संयुक्त कमेटी ने कंपनी के दस्तावेज भी खंगाले थे। जांच में कमेटी ने यह भी पाया था कि गृह मंत्रालय के 25 अप्रैल के दिशानिर्देशों का भी उल्लंघन हुआ है। इसमें गैर आवश्यक उद्देश्यों के लिए ऑक्सीजन के उपयोग पर प्रतिबंध लगाया गया था, लेकिन कंपनी ने 29 तारीख तक सेल जारी रखी। 19 अप्रैल से तीन दर्जन निजी कंपनियों और व्यक्तियों को करीब 706 सिलिंडर बेचे गए।

वहीं डीएसपी नवदीप सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि जिन लोगों को सिलिंडर बेचे गए हैं, उन्हें इन्हें वापस करने के लिए कहा गया है नहीं तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। पुलिस ने दिल्ली समेत कई स्थानों के दो दर्जन उपभोक्ताओं को नोटिस भी भेजे है। सभी सिलिंडर उद्योग विभाग को सौंपे गए हैं, जिससे इन्हें समय रहते दोबारा भरा जा सके।