हिमाचल: 1.30 करोड़ की लागत से बनकर तैयार हुआ शिमला को बिलासपुर से जोड़ने वाला वैली ब्रिज, भूस्खलन के चलते एक महीने से पड़ा था बंद

हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला को जोड़ने वाला नेशनल हाईवे बीते एक माह से बंद पड़ा हुआ था। अब जाकर वाहन चालकों और पर्यटकों ने राहत की सांस ली है। क्योंकि मंगलवार को दोपहर बाद यह हाइवे वाहनों के लिए खोल दिया गया है। आपको बता दे कि यहां पर घंडल के समीप 13 सितंबर को लैंडस्लाइड के कारण नेशनल हाईवे-205 करीब 50 मीटर तक धंस गया था। अब 29 दिन बाद यहां पर यातायात बहाल कर दिया गया है।

यहां बनाए गए बैली ब्रिज पर मंगलवार की दोपहर बाद से इसे बसों और छोटे वाहनों की आवाजाही के लिए खोल दिया गया। वही आपको बता दें कि इस बैली ब्रिज को 16 दिन में तैयार किया गया है। 180 फीट लंबे इस पुल के ऊपर से 20 टन तक भार गुजारा जा सकता है। यह भी बताया जा रहा है कि इस पुल के दोनों छोर पर एक-एक पुलिस कर्मचारी सदैव तैनात रहेगा।

हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला से नीचले इलाकों के आठ जिलों से जोड़ने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग-205 पर कई दिन से आवाजाही ना होने से यहाँ लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा था और जिस कारण संपर्क मार्गों से वाहन जा रहे थे। लोक निर्माण विभाग (लोनिवि) के मेकेनिकल डिवीजन ढली और धामी के अधिकारियों के साथ 30 मजदूरों ने दिन-रात काम कर इस सड़क को बहाल किया है। पुल निर्माण पर 1.30 करोड़ का खर्च आया।