हिमाचल: 4 साल की मासूम को ट्रेक्टर ने कुचला, ढाई साल की बच्ची पानी के टैंक में डूबी, दोनों की हुई दर्दनाक मौत

दूसरे बच्चों को लेकर माँ अस्पताल गई हुई थी। पिता खेत पर गए हुए थे। घर में ढाई साल की मासूम बच्ची अकेली थी, और पानी के टैंक में गिरने से वह डूब गई और उसकी मौत हो गई। वहीं, एक चार साल की मासूम को ट्रेक्टर ने कुचल दिया, जिसकी अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। ये दोनों मामले हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिले से सामने आए हैं।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, सिरमौर जिले के पच्छाद इलाके में लाना बांका पंचायत में एक ढाई वर्षीय बच्ची की टैंक में डूबने से मौत हो गई है। वहीं जब पिता सुखचैन सिंह को पता चला कि स्मृति घर में नहीं है तो उसने आसपास तलाश की। घर से थोड़ी दूर बने पानी के टैंक में स्मृति पानी के ऊपर तैरती दिखाई दी। इसके बाद तुरंत ही उसे पीएचसी बागथन लाया गया, जहां से उसे सराहां अस्पताल लाया गया, लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। तहसीलदार विपिन वर्मा ने मृतक के परिजनों को 20 हजार रुपये की फौरी राहत प्रदान की है।

आपको बता दें कि सुखचैन सिंह के दो बेटे और एक ढ़ाई साल की बेटी थी। पिता सुखचैन सिंह अपने एक बेटे को लेकर खेत में चला गया तो वहीं सुख चैन की पत्नी अपने दूसरे बेटे को लेकर स्थानीय पीएससी में इंजेक्शन लगवाने के लिए गई हुई थी। दोपहर को जब वह घर वापस पहुंची तो बेटी स्मृति घर पर नहीं थी। घर में सब जगह तलाश करने के बाद भी बच्ची कहीं नहीं मिली।

वहीं दूसरे मामले में पांवटा साहिब के रामपुरघाट क्षेत्र में एक तेज रफ्तार ट्रैक्टर की ट्राली के नीचे आने से चार वर्षीय मासूम बच्ची की मौत हो गई है। उत्तरप्रदेश के ग्राम गोठना की रहने वाली पिंकी निवासी रामपुरघाट ने पुलिस में इस मामले में शिकायत दर्ज करवाई थी। महिला ने जानकारी देते हुए बताया कि मंगलवार को वह उनकी 4 वर्षीय बेटी छाया के साथ गिरि की तरफ जा रही थी। रास्ते में पवन ने दोनों को लिफ्ट दे दी। इस दौरान बेटी छाया ट्रैक्टर से उछलकर नीचे गिर गई और दोनों को चोटें आईं। बाद में अस्पताल में इलाज के दौरान बच्ची की मौत हो गई।